डार्क सर्कल: कहीं लगा न दें आपकी सुंदरता में ग्रहण

डार्क सर्कल न सिर्फ आपकी सुंदरता को कम करते हैं बल्कि आपके खराब स्वास्थ्य और अनियमित दिनचर्या की चुगली भी करते हैं। इसके कारण सुंदर चेहरा भी थका और मुरझाया हुआ सा लगता है। डार्क सर्कल को चिकित्सकीय भाषा में पेरीआर्बिटल हाइपर पिग्मेंटेशन कहते हैं। अगर आप पूरी नींद ले रहे हैं, पोषक भोजन का सेवन कर रहे हैं, फिर भी डार्क सर्कल हैं तो यह किसी गंभीर स्वास्थ्य समस्या का संकेत हो सकता है। पुरुषों और महिलाओं में यह एक सामान्य समस्या है, लेकिन जब बचपन या युवावस्था में ये आँखों के आसपास डेरा जमा लेते हैं तो यह चिंता का कारण बन जाते हैं।

क्यों हो जाते हैं डार्क सर्कल

अकसर लोग सोचते हैं कि आँखों के नीचे जो काले घेरे हैं उनका कारण नींद की कमी, थकान या घंटों तक कंप्यूटर स्क्रीन को घूरना है। अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि एनीमिया, लीवर डिसीजेज और डिहाइड्रेशन के कारण भी डार्क सर्कल हो सकते हैं ।

बढ़ती उम्र हमारी त्वचा के नीचे छोटी-छोटी रक्त नलिकाओं का जाल होता है । हमारी आँखों के नीचे की त्वचा अत्यधिक पतली और कोमल होती है। जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, यह त्वचा और पतली होती जाती है, इसके कोलेजन नष्ट हो जाते हैं, जिसके कारण रक्त नलिकाएँ स्पष्ट रूप से दिखाई देने लगती हैं, जो काले घेरे होने का आभास देती है। कभी-कभी यह डार्क सर्कल नहीं होते बल्कि उम्र बढ़ने के साथ आँखों के नीचे जो गड्ढे हो जाते हैं, वह डार्क सर्कल के समान दिखते हैं।

  • पोषक तत्त्वों की कमी
    शरीर में पोषक तत्त्वों की कमी से भी आँखों के आसपास काले घेरे बन जाते हैं। पोषक और संतुलित भोजन, जिसमें विटामिन ए, सी, के, ई और दूसरे पोषक तत्त्व होते हैं, उससे काले घेरों से छुटकारा पाने में सहायता मिलती है।
  • नींद की कमी और थकान
    नींद की कमी और अत्यधिक थकान के कारण त्वचा पीली पड़ जाती है, जिसके रक्त नलिकाएँ अधिक स्पष्ट रूप से दिखाई देती हैं या अधिक नीली व काली दिखाई देती हैं।
  • धूम्रपान या शराब का सेवन
    देर रात तक जागने, धूम्रपान और शराब का सेवन आपकी त्वचा को बुरी तरह प्रभावित करता है, जिसका परिणाम आँखों के नीचे काले घेरों के रूप में दिखाई देता है।
  • सूर्य के प्रकाश में अधिक समय बिताना
    धूप में अधिक समय तक रहने से त्वचा में पिग्मेंटन बढ़ जाता है। इसके कारण आँखों के आसपास मेलेनिन का निर्माण भी सामान्य से अधिक होता है, जिसके कारण काले घेरे बन जाते हैं ।
  • हार्मोन परिवर्तन
    हार्मोन परिवर्तन की समस्या महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा काफी अधिक होती है। मासिक धर्म, गर्भावस्था और मोनोपॉज के दौरान महिलाओं के शरीर में हार्मोन परिवर्तन होता है, इसके कारण भी आँखों के नीचे काले घेरे हो जाते हैं।
  • एलर्जी
    एलर्जी के कारण भी काले घेरे बन जाते हैं । कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि बच्चों में काले घेरों का संबंध फूड एलर्जी से होता है।
  • एनीमिया
    आयरन की कमी काले घेरों का एक प्रमुख कारण है। एनीमिया से बचने के लिए ऐसे भोजन का सेवन करें, जिसमें आयरन प्रचुर मात्रा में हो जैसे लाल मांस, साबुत अनाज, ब्रेड, अंडे, सूखे मेवे, लीवर, हरी 1. पत्तेदार सब्जियाँ, मटर, बादाम, खुबानी, फलियाँ और किशमिश आदि।
  • डिहाइड्रेशन
    अत्यधिक शराब या कैफीन युक्त पदार्थों का सेवन करने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है, इस कारण आँखों के आसपास की त्वचा गहरे रंग की हो जाती है। डिहाइड्रेशन से बचने के लिए रोजाना 8-10 गिलास पानी पिएँ, ताजे और रसीले फल खाएँ चाय, कॉफी और शराब का सेवन कम करें या न करें।
  • लीवर की बीमारियाँ
    काले घेरे लीवर की गंभीर बीमारियों जैसे हेपेटाइटिस , लीवर सिरोसिस आदि का संकेत भी हो सकते हैं।
  • अनुवांशिक कारण
    अनुवांशिक रूप से मिला स्किन पिग्मेंटेशन भी डार्क सर्कल का एक प्रमुख कारण है। कुछ लोगों में डार्क सर्कल की समस्या पीढ़ी-दर- पीढ़ी चलती रहती है।
  • मेडिकेशन
    ऐसी दवाइयों का सेवन, जिससे रक्त नलिकाएँ फैल जाती हैं और आँखों के आसपास की त्वचा के काले पड़ने का कारण बन सकती हैं।

डार्क सर्कल की रोकथाम

डार्क सर्कल को कम करने या ठीक करने से ज्यादा जरूरी है कि इन्हें होने ही न दिया जाए। इससे न सिर्फ हमारी आँखें और चेहरा सुंदर दिखेगा बल्कि स्वास्थ्य भी बेहतर रहेगा।

  • संतुलित भोजन खाएँ, जिसमें विटामिन के और आयरन अधिक मात्रा में हो जैसे हरी पत्तेदार सब्जियाँ, फलियाँ और मांसाहारी भोजन।
  • विटामिन ‘ए’ आँखों के स्वास्थ्य के लिए काफी उपयोगी होता है। यह दूध और दूध से बने पदार्थों, मछली अंडे, फलों और हरी पत्तेदार सब्जियों में भरपूर मात्रा में पाया जाता है।
  • रात में समय पर सोएँ और सुबह जल्दी जागें।
  • भरपूर पानी पिएँ।
  • डॉक्टर की सलाह पर विटामिंस सप्लीमेंट भी ले सकते हैं ।

डार्क सर्कल के घरेलू उपाय

अगर डार्क सर्कल हल्के हैं तो कुछ घरेलू उपाय अपनाकर भी इनका उपचार संभव है। इससे डार्क सर्कल कम होने के साथ आँखों को राहत भी मिलेगी।

    •  बादाम के तेल और शहद को अच्छी तरह मिलाकर सोने से पहले आँखों के आसपास लगाएँ और पूरी रात लगे रहने दें ।
    •  ताजी पुदीने की पत्तियों का पेस्ट बना लें और उसमें कुछ बूँदें नींबू के रस की मिला लें। इस मिश्रण को काले घेरों पर प्रतिदिन 10-15 मिनट के लिए लगा लें।
    • आलू और खीरे के रस को मिलाएँ, इसमें रुई डुबाएँ और उसे करीब 20 मिनट आँखों पर रखें, फिर ठंडे पानी से धो लें।
    • खीरे की स्लाइस या टी बैग को पानी भिगोकर आँखों पर करीब 20 मिनट तक रखें, इसके बाद ठंडे पानी से आँखें धो लें।
    • कच्चे आलू को कद्दूकस कर काले घेरों पर लगाएँ। आधे घंटे बाद आँखें ठंडे पानी से धो लें और मॉस्चराइजर लगा लें।
    • बादाम या जैतून के तेल से आँखों के आसपास हल्के हाथों से मालिश करें, इससे रक्त संचार ठीक रहता है और आँखों की थकान भी कम होती है।

इन बातों का भी रखें ख्याल

  • व्यायाम और योगा करें विशेष रूप से प्राणायाम; यह त्वचा की सेहत के लिए बहुत अच्छा है।
  • अपने भोजन में नमक कम खाएँ। अधिक नमक शरीर में द्रवों को रोक लेता है, जिससे आँखें सूजी हुई लगती हैं और उनके नीचे थैले बन जाते हैं।
  • आधुनिक शोधों में यह बात सामने आई है कि ग्रीन टी आँखों के लिए फायदेमंद है। इसमें केटेचिंस नामक एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो आँखों की रक्षा करते हैं।
  • रात में आँखों के आसपास ऐसे क्रीम लगाएँ, जिसमें कोजिक एसिड और आरन्यूटिन जैसे लाइटिनिंग एजेंट हों।
  • छह से आठ घंटे की आरामदायक नींद लें, ये आपकी आँखों को प्राकृतिक तरीके से तरोताजा रखने में मदद करती है।
  • देर रात तक कृत्रिम रोशनी में नजर का काम न करें।
  • शरीर में पोषक तत्त्वों की कमी न होने दें विशेषकर विटामिन के और पानी की, इनकी कमी से डार्क सर्कल हो जाते हैं।
  • सूर्य की किरणों से अपनी आँखों को बचाएँ, जब भी धूप में निकले सन- ग्लासेस लगाएँ।
  • विटामिन के और ‘ई’ युक्त मॉस्चराइजर से आँखों के आसपास हल्के हाथों से मसाज करें अपनी आँखों को दिन में दो-तीन बार ठंडे पानी से धोएँ, इससे आँखों की ताजगी और चमक बरकरार रहेगी।

उपचार

आज कई ऐसे उपचार उपलब्ध हैं, जिनके द्वारा डार्क सर्कल से पूरी तरह से छुटकारा मिल सकता है। यह उपचार इस पर निर्भर करते हैं कि इन काले घेरों का कारण क्या है।

सबसे पहले किसी अच्छे त्वचा रोग विशेषज्ञ को दिखाएँ, ताकि इसका कारण समझ में आए। इसके पश्चात् उनके उपचार का विकल्प चुनें। कोई भी उपचार किसी अच्छे त्वचा रोग विशेषज्ञ की निगरानी में ही कराएँ। अगर डार्क सर्कल अधिक गहरे नहीं हैं तो डॉक्टर आपको कोई अंडर आई जेल या क्रीम दे सकते हैं, जिन्हें रात को सोने से पहले आँखों के आसपास काले घेरों पर लगानी होती है।

डार्क सर्कल के उपचार के लिए लेजर रिसर्फेसिंग और इंटेंस पल्सड लाइट ट्रीटमेंट, केमिकल पील्स, इंजेक्टेबल डर्मल फीलर प्रोसीजर्स और फैट ट्रांसफर विधियाँ प्रमुख रूप से उपयोग की जा रही हैं । अगर डार्क सर्कल का कारण कोई गंभीर स्वास्थ्य समस्या है तो उपचार उस रोग को ध्यान में रखकर किया जाता है । वैसे अधिकतर आँखों के नीचे काले घेरों का कोई चिकित्सकीय कारण नहीं होता है जीवन शैली में बदलाव लाकर और घरेलू उपचार के द्वारा इन्हें ठीक किया जा सकता है।

2 Comments

  1. First off I would like to say excellent blog!

    I had a quick question that I’d like
    to ask if you don’t mind. I was interested to find
    out how you center yourself and clear your mind
    before writing. I have had difficulty clearing my thoughts in getting my thoughts out.

    I do take pleasure in writing but it just seems like the first
    10 to 15 minutes are usually wasted just trying to
    figure out how to begin. Any suggestions or tips?

    Thank you!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *