पृथ्वी में पेट्रोल, डीजल और गैस कैसे बनती है और कैसे निकालते है?

कितनी सुन्दर कार का निर्माण करने में कम से कम दो वर्ष तो लग ही जाएंगे। अब इस कार को केवल पेट्रोल चाहिए। इसलिए टंकी भरने में ज्यादा समय नहीं लगेगा।

परंतु हमारे इस पृथ्वी ग्रह को चलाने के लिए जितना प्राकृतिक तेल और गैस चाहिए उसका उत्पादन करने में लाखों वर्ष लग जाते हैं।

पेट्रोल, डीजल और गैस कैसे बनती है

लाखों वर्ष पूर्व समुद्र तल के नीचे और कीचड़ की परतों के भीतर मृत समुद्री जीव और पौधे दबे हुए होते थे। रेत व कीचड़ की बढ़ती हुई परतों से दीर्घकाल तक मृत पशुओं और पौधे को गहरे पाताल तक दबाती जाने से तापमान और दबाव में इतनी वृद्धि हुई जिससे जैविक पदार्थ टूट गए और धीरे धीरे प्राकृतिक तेल और गैस में रूपांतरित हो गए।

आज इस तेल की परतें और गैस पृथ्वी के सतह के नीचे स्थित है। हम हमारे प्रयोग के लिए ईंधन को निकालने के लिए अंदर छेद करके उस तह तक पहुँचते हैं।

तो आप देखिए ये आज उपयोग किये जाने वाले पेट्रोल बनने में पृथ्वी को कई लाखों साल लगे।

आइए हम इसका न्यायोचित उपयोग करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.