क्या आप खाने के बाद 100 कदम की चहल कदमी करते है ?

इस समय लोग इतने व्यस्त हो गए हैं कि वह समय पर खाना भी नहीं खाते है| और खाते हैं तो समय पर नहीं खाते कई बार तो देर रात तक खाते हैं जिसके कारण खाना पूरी तरह से बच नहीं पाता| जिससे कि हमें पेड़ से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है| जैसे अपच, गैस, एसिडिटी, पेट में दर्द आदि दिक्कतें होती है|
हमें खाना सही समय पर खाना चाहिए जिससे कि उसे पचने के लिए पूरा समय मिल सके और साथ ही खाने के साथ सलाद खाएं| सलाद में भरपूर मात्रा में फाइबर्स होते हैं जो भोजन को आसानी से पचा देते हैं|
सुबह 9:00 बजे से पहले नाश्ता खा ले| सुबह के नाश्ते में पेय पदार्थ में जूस ले|
दोपहर का खाना सुबह के खाने से कम से कम 4 घंटे बाद खाए| इस समय के खाने में दही-छाछ खाए|
रात के खाना ज्यादा देरी से ना खाएं क्योंकि ऐसा करने से खाने को पचने के लिए पर्याप्त समय नहीं मिल पाता है और वह पूरी तरह से पच नहीं पाता |
खाने के बाद कम से कम 100 कदम की चहल कदमी करें|
अगर हम खाना खाते हैं सोने के लिए चले जाएंगे तो खाने को पचने में काफी दिक्कत होगी| इसलिए सोने से 2 घंटे पहले खाना खाएं|
खाना खाते हैं दूध ना पिए थोड़ी देर बाद भी है क्योंकि वह पाचन की प्रक्रिया को कम कर देता है|

गरिष्ठ (बहार का खाना) भोजन के बाद

शादी पार्टियों में तेल के बने पकवान होते हैं ऐसे में भी काफी समस्या हो सकती है इसलिए खाने के बाद थोड़ी चहलकदमी करें | गरिष्ठ भोजन के बाद फल न खाएं यह पाचन की प्रक्रिया को धीरे कर देता है|
यदि आप रोज खाना खाने के बाद बाहर घूमते हो तो इस से आप के स्वास्त्य पर बहुत अच्छा फर्क पड़ता है पर आप जल्दी से बीमार नहीं हो सकते हो क्यों की रोज खाना खाने के बाद आप घूमते हो तो इस से आप का पाचन तंत्र मजबूत होता है इस से कही न कही आप का शरीर मजबूत होता है और आप की इम्युनिटी स्ट्रांग होती है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.