तड़ित का निर्माण: बिजली कैसे गिरती है, और इस से बचने के उपाय व सुरक्षा

आपने तड़ित झंझावाट के समय आकाश को गरज के साथ चमकते हुए अवश्य देखा होगा।

क्या आप जानते हैं कि ऐसा क्यों होता है। इस चमक का कारण तड़ित है तड़ित झंझावात के समय गर्जन के साथ तड़ित एक आम जस्य है।

आकाशीय बिजली से बचने के लिए इमारतों में क्या प्रबंध किया जाता है, मोबाइल पर बिजली कैसे गिरती है, जब आसमान से बिजली गिरती है तो हमें क्या क्या सावधानियां रखनी चाहिए, तड़ित कितने प्रकार के होते हैं, सबसे ज्यादा बिजली कहाँ गिरती है, इंसान पर बिजली क्यों गिरती है, आकाशीय बिजली से बचने के लिए इमारतों में क्या प्रबंध किया जाता है, क्या पृथ्वी बिजली की एक सुचालक है, तड़ित झंझा के समय हमें क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, तड़ित चालक कैसे काम करता है

तड़ित का निर्माण

लेकिन आकाश में ये तड़ित कैसे पैदा होता है। तड़ित झंझावाट के समय वायु धाराओं में जबर्दस्त उथल पुथल होती है और इस कारण बादलों में आवेश का निर्माण हो जाता है।

धनावेश बादलों के पर इकट्ठा होते हैं जबकि ऋण आवेश नीचे संचित होते हैं। इस प्रकार बादलों का निचला हिस्सा शक्तिशाली रूप से ऋणात्मक हो जाता है और भूमि पर स्थित विभिन्न वस्तुओं जैसे कि वृक्ष, घर, कारों आदि पर मौजूद धन आवेश को आकर्षित करने लगता है।

जब संचित किए गए आवेशों का परिमाण बहुत अधिक हो जाता है तो वायु आवेशों के प्रवाह का प्रतिरोध करने में असफल हो जाती है इसलिए ऋण और धन आवेश अत्यधिक वेग से एक दूसरे की ओर गति करते हैं और मिलने पर एक दूसरे का उदासीनीकरण कर देते हैं।

इस प्रक्रिया में जोरदार चमक उत्पन्न होती है ये चमक तड़ित कहलाती है और आवेशों के उदासीनीकरण की इस प्रक्रिया को विद्युत विसर्जन कहते हैं।

तड़ित की कौंध आसपास की वायु को अत्यधिक तापमान तक गर्म कर देती है जिससे कंपन या आघात तरंगे पैदा होती हैं जिसके कारण विस्फोट हो जाता है जिसे हम गर्जन के रूप में सुनते हैं

गर्जन सुनने से पहले सदैव हमें तड़ित दिखाई देती है क्योंकि प्रकाश की चाल ध्वनि की अपेक्षा बहुत अधिक होती है।

तड़ित से बचने के उपाय

एक तड़ित कौंध में अपार ऊर्जा होती है और इसका तापमान बहुत उच्च होता है इसलिए तड़ित आघात से बचने के लिए आपको कुछ सुरक्षा उपायों को अपनाना चाहिए। तड़ित झंझावाट के समय सुरक्षित रहने का सर्वश्रेष्ठ तरीका –

  • घर के अंदर रहना है।
  •  स्वयं को टेलीफोन के प्रयोग से दूर रखें।
  •  शावर का प्रयोग ना करें।
  • खिड़कियों से दूर रहें, क्योंकि तड़ित टेलीफोन, विद्युत तारों, धातु के पाइपों आदि पर आघात कर सकती है।
  •  विद्युत उपकरणों जैसे कि कंप्यूटर, टीवी आदि की सुरक्षा के लिए उनके प्लग निकाल दें।
  • खुले स्थानों पर न जाएं और यदि जाना जरूरी हो तो ऊंचे वृक्षों, खंभों या किसी तरह की ऊंची धातु की वस्तुओं से दूर रहें
  • निकटवर्ती इमारत में आश्रय लेने का प्रयास करें।

बिजली गिरने पर सुरक्षा कैसे करे?

  • तड़ित प्राय हमारे आस-पास की ऊंची वस्तु पर आघात करती है
  • इसलिए यदि आपके पास कुछ भी नहीं है तो नीचे जुख के बैठ जाएं लेकिन जमीन पर लेटी नहीं, क्योंकि भूमि तड़ित कोर्ट में उपस्थित स्थैतिक आवेशों को आकर्षित कर सकती है।
  • खुले वाहन जैसे बाइक की बहुत असुरक्षित होती है। धातु की बंद कार सबसे सुरक्षित है, क्यूंकि यदि तड़ित आपकी कार से टकराती है तो ये तड़ित आघात का भू संपर्क कर पाने में सक्षम होती है लेकिन सुनिश्चित कर लें कि कार के दरवाजे और खिड़कियां पूरी तरीके से बंद हों।

तड़ित चालक क्या होता है?

तड़ित चालक एक ऐसा उपकरण है जिसका उपयोग तड़ित से इमारतों की सुरक्षा के लिए किया जाता है। ये धात्विक छड़ का बना होता है जो इमारत में सबसे ऊपर ऊंचाई पर स्थित होता है।

छड़ का आकाश की ओर वाला सिरा नुकीला जबकि दूसरा सिरा जमीन में गहराई तक गड़ा होता है।

ये तड़ित झंझावाट के समय विद्युत आवेशों के जमीन में प्रवाह के लिए सुगम पद प्रदान करता है यह सुनिश्चित करता है कि इमारत को पहुंचने वाली क्षति कम से कम हो।

प्रश्न.1 टावर में कौन सा चालक लगा रहता है जो बिजली गिरने से रोकता है?

उत्तर – टावर में तड़ित चालक लगा रहता है जो बिजली गिरने से रोकता है।

प्रश्न.2 factory par bijli girne se kaise bachaye

उत्तर- तड़ित चालक का उपयोग कर के।

प्रश्न.3 बरसात में बिजली के मकान पर गिरने से बचने के लिए यन्त्र

उत्तर- तड़ित चालक से बिजली मकान पे गिरने से बचा सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.