श्वसन प्रक्रिया के द्वारा भोजन का अपघटन कैसे होता है?

सांस लेना

वो कौन सी चीज है जो आप करते रहते हैं। तब भी जबकि आप सोते हैं।

जी, हां सांस लेना।

सांस लेना ऑक्सीजन को अंदर लेने और कार्बनडाय ऑक्साइड को बाहर छोड़ने की प्रक्रिया है। ऑक्सिजन, जिसे हम साँस में अंदर लेते हैं, हमारे शरीर के भीतर भोजन को जलाने के लिए उपयोग किया जाता है। ये प्रक्रिया श्वसन के रूप में जानी जाती है।

श्वसन के दौरान ऊर्जा और कार्बन डायऑक्साइड उत्पन्न होते हैं।

श्वसन तंत्र

हमारा श्वसन तंत्र नाक वायु नली का एक जोड़ी फेफड़ा और डायफ्राम से युक्त होता है।

फेफड़े मुख्य अंग हैं, जो सांस लेने में हमारी मदद करते हैं। फेफड़े पंजर द्वारा रक्षित होते हैं। दायित्व एक पेशेवर आवरण है, जो फेफड़े के नीचे स्थित होता है।

 

अंतः श्वसन

सांस लेने की प्रक्रिया पर्यावरण से ऑक्सीजन युक्त हवा को अंदर लेने से ही शुरू हो जाती है। हवा को सांस द्वारा अंदर लेना अंतः श्वसन कहलाता है।

अंतः श्वसन से ठीक पहले डायफ्राम फैलता और नीचे की ओर जाता है। इससे फेफड़े के लिए और जगह बनाता है। ये फेफड़े को वायु नलिका द्वारा नाक या मुंह से हवा अंदर खींचने में मदद करता है।

 

सांस छोड़ना

सांस छोड़ने के दौरान कार्बन डाई ऑक्साइड जो श्वसन के दौरान उत्पन्न होती है, रक्त संचरण द्वारा फेफड़े तक पहुंचती है। सांस छोड़ने के ठीक पहले डायफ्राम संकुचित होता है और ऊपर की ओर चला जाता है।

यह फेफड़े के लिए सीने के भीतर जगह को कम कर देता है।

परिणामस्वरूप फेफड़ा सिकुड़ जाता है और कार्बन डाई ऑक्साइड भरी हवा को वायु नलिका से और अंततः नाक या मुंह से बाहर निकाल देता है।

 

इसके बारे में सोचें-

  • कार्बन डाइऑक्साइड का क्या होता है, जिसे आप बाहर छोड़ते हैं?
  • आप दौड़ने के बाद अधिक सांस क्यों लेते हैं?
  • क्या आपका सांस लेना बदलता है जब आप सोते हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *