विद्युतलेपन (Electrolysis) : धातु पर विद्युतलेपन कैसे करते हैं? और इस तरह पुरानी से नयी धातु बनाते है

यह रोहन है और रोहन ने नई साइकिल खरीदी है, लेकिन यह पुरानी किचन नई साइकिल के साथ अच्छी नहीं लगेगी। लेकिन यह उसकी पसंदीदा किचन है। वह उसे बदलना नहीं चाहता।

हम इस किचन को तांबे के लेपन की मदद से नई की तरह बदल सकते हैं।

आइए हम किचन पर विद्युत लेपन करते हैं।

क्या प्लास्टिक या लकड़ी की वस्तुओं पर विद्युत लेपन किया जा सकता है, विद्युत लेपन के उदाहरण, क्या प्लास्टिक क्या लकड़ी की वस्तुओं पर विद्युत लेपन किया जा सकता है, यशद लेपन क्या है, विद्युत अपघटन, विद्युत लेपन में अम्लीय जल का उपयोग क्यों किया जाता है, विद्युत लेपित वस्तुओं के नाम, विद्युत विलेपन का उपयोग, लोहे के बने फूलों को जंग से बचाने के लिए किस धातु का विद्युत लेपन किया जाता है, विद्युत लेपित वस्तुओं की सूची, विद्युत विलेपन उपयोग, विद्युत धातु विज्ञान, What is electrolysis in chemistry?, Does electrolysis remove hair permanently, What is the purpose of electrolysis?, Is electrolysis hair removal painful?, What is the purpose of electrolysis?, Why only electrolysis is used to decompose water, What is electrolysis, How does this electrolysis of water is useful, Can someone tell me the rate at which electrolysis of water occurs?, Why is an electrolyte needed in electrolysis, How do you identify the anode and cathode in electrolysis?, How long does it take to complete electrolysis?, What are the Methodology of electrolysis of water ?, how to electrolysis of splitting reation, Electrolysis of NaCl, What is electrolysis of water, Electrolysis Class 10, Electrolysis process, Electrolysis example, Electrolysis in Physics, What is electrolysis used for, Electrolysis Chemistry notes

विद्युतलेपन (Electrolysis)

यह विद्युतलेपन एक साधारण प्रक्रिया है, जिसमें किसी वंचित धातु की परत एक दूसरी धातु पर विद्युत धारा का प्रयोग करते हुए चढ़ाई जाती है। इसी प्रक्रिया को विद्युतलेपन कहते हैं।

विद्युतलेपन की प्रक्रिया

इसके लिए सबसे पहले आपको एक विद्युत अपघटिय बनाने की जरूरत है। विद्युत अपघट्य धातु आयन प्रदान करता है, जो वस्तु पर जमा होंगे।

किचन पर तांबे के लेपन के लिए हमें तांबे के आयनों की जरूरत है। इसके लिए आइए कॉपर सल्फेट का विलियन तैयार करें।

एक पात्र में आसुत जल ले और इसमें कॉपर सल्फेट का चूर्ण घोलें। इस विलियम की चालकता को बढ़ाने के लिए इसमें तनु सल्फ्यूरिक अम्ल की कुछ बूंदे मिलाएं।

 

अब तांबे की चद्दर या कोई अन्य धातु जिससे आप किचन पर लेपन करना चाहते हैं, उसे ले और उसे सेंड पेपर से साफ करें पुरानी किचन को भी साफ करें।

यह दोनों हमारे इलेक्ट्रोड होंगे।

 

अब किचन को तांबे की प्लेट को एक बैटरी और एक स्विच से जोड़ें।

 

दोनों इलेक्ट्रॉनों को कॉपर सल्फेट के विलियन में डुबोकर रखें।

 

ध्यान दें कि जिस वस्तु पर विद्युत लेपन किया जाना है वह बैटरी के शरंट सिरे से जुड़ी हो। यहां पर यह वस्तु किचन है जो अब कैथोड की तरह कार्य करेगी।

और चढ़ाई जाने वाली धातु एनोड बनेगी।

हमारे इस प्रयोग में एनोड तांबे की प्लेट है।

 

अब परिपथ का स्विच ऑन करें और 15 मिनट तक विलियम से विद्युत धारा को प्रवाहित होने दे।

 

कॉपर सल्फेट विलियम का विद्युत अपघटन होता है। यह कॉपर और सल्फेट आयनो में अलग हो जाता है।

किचन जोकि कैथोड है, मुक्त कोपर धनआयनो को अपनी ओर आकर्षित करती है।

को ब्रायन कैथोड से इलेक्ट्रॉनों को ग्रहण करके कॉपर परमाणुओं का निर्माण करते हैं। जो कोपर की परत के रूप में किचन पर जमा होने लगते हैं।

 

जब तक स्विच ऑन रहता है विद्युत अपघट्य से कॉपर आयन निकलते रहते हैं।

 

बैटरी के धन टर्मिनल से जुड़ी कॉपर की प्लेट अपने आयन देकर विद्युत अपघट्य में कॉपर आयनो के स्तर को बनाए रखती है।

 

इस प्रकार कॉपर एक इलेक्ट्रोड से दूसरे पर स्थानांतरित हो जाते हैं और प्रक्रिया तब तक चलती रहती है जब तक परिपथ में विद्युत धारा प्रवाहित होती रहती है।

 

अब जरा किचन को देखिए चमकीले तांबे के रंग में कितनी चमक रही है।

 

प्रश्न: आपके अनुसार किसी वस्तु पर तांबे की बजाय चांदी की परत चढ़ाने के लिए क्या किया जाना चाहिए?

उत्तर: इसके लिए कॉपर सल्फेट विद्युत अपघट्य को चांदी की किसी योगीक जैसे कि सिल्वर सल्फेट से बदला जाना चाहिए और तांबे की प्लेट को चांदी की चदश्र से।

Leave a Reply

Your email address will not be published.