महिलाओं में विटामिन डी की कमी से हो सकती हैं परेशानियां

आपको तो पता ही होगा कि हमें सूर्य की किरणों से विटामिन डी मिलता है जो कि हमारे शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण है और यह हमारी हड्डियों के लिए बहुत जरूरी है क्योंकि विटामिन डी से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता और हड्डियां मजबूत होती हैं और रोग प्रतिरोधक क्षमता के बढ़ने के कारण से हमें रोगों से लड़ने में बहुत मदद मिलती है और vitamin d हमारे दांतो के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है और आजकल के दैनिक जीवन में हम सूर्य से मिलने वाले विटामिन डी का फायदा उठा नहीं पा रहे हैं जिसके परिणाम स्वरूप आज भारत में 70% महिलाओं को विटामिन डी की कमी है और इसी कमी को पूरा करने के लिए महिलाएं और पुरुष विटामिन डी की दवाइयों का प्रयोग कर रहे हैं जो कि हमारे शरीर के लिए बहुत नुकसानदायक है

Vitamin d हमारे मस्तिष्क की सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है और यदि गर्भवती महिलाओं में विटामिन डी की कमी हो जाती है तो वह उनके लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकती है क्योंकि गर्भावस्था के दौरान भ्रूण के विकास की वजह से शरीर में कैल्शियम घट जाता है और साथ ही पेशाब में कैल्शियम निकलने से भी विटामिन डी की कमी हो जाती है और यह समस्या गर्भावस्था बढ़ने के साथ-साथ बढ़ने लगती है और महिलाओं में विटामिन डी की कमी से होने वाले लक्षण निम्न प्रकार है

1. मांसपेशियों में दर्द
2. बालों का झड़ना
3. थकान रहना
4. हड्डियों और पीढ़ में दर्द
5.हड्डियों का क्षय
6.बार बार बीमार पड़ना या संक्रमण का होना
7. घाव भरने में बहुत समय लगाना
8. अवसाद
9.दतो का सड़ना
10.गुर्दों में पथरी होने की समस्या
11. मोटापा बड़ना
12.हड्डियों का कमजोर होना

अगर यह पोस्ट आपको अच्छी लगी हो तो हमारे  यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें और हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करें

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *