कार्बन चक्र क्या है, प्रकार, अपघटन और निर्माण

जल की तरह कार्बन भी विभिन्न जैविय और भौतिक प्रक्रिया के द्वारा अनेक रूपों में चक्रित किया जाता है।

यह सभी प्रक्रियाएं निरंतर होते रहते हैं और पृथ्वी पर कार्बन के स्तर को प्रभावित करती हैं।

Carbon names to use in carbon cycle

कार्बन के प्रकार

कार्बन पृथ्वी पर दो रूप में विद्यमान है

  • तात्विक

  • योगीक

तात्विक रूप :- तांत्रिक रूप में यह हीरा और ग्रेफाइट के रूप में पाया जाता है।

योगिक रूप :- योगिक रूप में यह कार्बन डाइऑक्साइड, कार्बोनेट और कार्बन आधारिक कार्बनिक अणुओं जैसे कि कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन के रूप में पाया जाता है।

 

परंतु कार्बन इन सभी रूपों में कैसे परिवर्तित हो जाता है और कैसे यह पुर्ण वायु में मुक्त हो जाता है?

यह कार्य प्रक्रियाओं की एक श्रंखला के द्वारा संपन्न होता है जिसे कार्बन चक्र कहते हैं।

 

आइए हम इस महत्वपूर्ण चक्र के बारे में सीखें-

पौधों और पशुओं का स्वसन

पौधों और पशुओं दोनों के स्वसन के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है वह हवा से ऑक्सीजन ग्रहण करते हैं और कार्बन डाइऑक्साइड मुक्त करते हैं।

प्रकाश संश्लेषण की प्रक्रिया

सुपोषित पौधे वायु से कार्बन डाइऑक्साइड अवशोषित करते हैं और इसका उपयोग जल सूर्य प्रकाश की उपस्थिति में कार्बनिक यौगिकों के निर्माण के लिए उपयोग करते हैं।

वे इस प्रक्रिया में ऑक्सीजन मुक्त करते हैं, यह संपूर्ण प्रक्रिया प्रकाश संश्लेषण कहलाती है।

कार्बन का अपगठन

पशु पौधों को अपना भोजन बनाते हैं और उनसे कार्बनिक योगिकों को ग्रहण करते हैं।

जब पौधे और पशु मर जाते हैं, तब उनके अवशेषों को अपघटकों के द्वारा अपगठित किया जाता है। इस प्रक्रिया में कार्बनिक योगिक टूटकर कार्बन मुक्त करते हैं, जो कार्बन डाइऑक्साइड के रूप में वायु में वापस चला जाता है।

 

कोयला और पेट्रोल का निर्माण

मृत्य पौधों के अवशेष मृदा में जमा हो जाते हैं। समय बीतने के दौरान वे कोयले में परिवर्तित हो जाते हैं। कुछ पौधों और पशुओं के अवशेष परिवर्तित होकर पेट्रोलियम में बदल जाते हैं।

कोयला और पेट्रोलियम जीवाश्म इंधन है और गैर नवीकरणीय है।

इनमें कार्बन अपने तात्विक रूप में पाया जाता है।

उद्योगों और वाहनों में इन इंधनओ के दहन के परिणाम स्वरूप कार्बन डाइऑक्साइड गैस उत्पन्न होती है जो वायुमंडल में वापस चली जाती है।

 

समुंद्र के अंतर्गत

समुंद्र के सतह वायुमंडल से अवशोषित हुई कार्बन डाइऑक्साइड का विशाल भंडार है। समुद्र के जल में उपस्थित अधिकतर कार्बन डाइऑक्साइड या तो कार्बन एड आई नो के रूप में या फिर जल में घुली कार्बन डाइऑक्साइड के रूप में है।

जलीए जीव स्वसन कैसे करते हैं?

जलीय पशु स्वसन की क्रिया में जल में घुली ऑक्सीजन का प्रयोग करते हैं और कार्बन डाइऑक्साइड को छोड़ते हैं।

मृत्य जीवो की अपघटन के परिणाम स्वरुप भी कार्बन डाइऑक्साइड वातावरण में मुक्त होती है यह समुद्री जीवो के कवच कैल्शियम कार्बोनेट के बने होते हैं।

 

चूना पत्थर कैसे बनता है?

जब यह समुद्री जीव मर जाते हैं तब कैलशियम कार्बोनेट समुद्र तल पर एकत्रित हो जाता है और समय के साथ चूना पत्थर में तब्दील हो जाता है।

जब चूना पत्थर निकाला जाता है और कारखानों में उपयोग किया जाता है तब कार्बन डाइऑक्साइड मुक्त होती है।

इस प्रकार कार्बन वायुमंडल में वापस लौट जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.