जाने आप की आंखों को मोबाइल स्क्रीन से कितना नुकसान हो सकता है, जाने कैसे आंखों सुरक्षित रखे

टेक्नोलॉजी के इस दौर में हम चारों तरफ से टेक्नोलॉजी से गिरे हुए हैं चाहे वह मोबाइल हो या वह कोई अन्य उपकरण जो हमारी जीवन शैली को आसान बनाने में उपयोग में लिए जाते हैं इनमें से बहुत हानिकारक किरणें निकलती है जिससे हमारे स्वास्थ्य को हानिकारक प्रभाव पड़ता है वर्तमान समय में स्मार्टफोंस का उपयोग पिछले 6-7 सालों से बहुत ज्यादा बढ़ गया है पहले परिवार में केवल बड़े लोग ही मोबाइल फोंस का इस्तेमाल करते थे लेकिन जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का प्रचार प्रसार हुआ तो वर्तमान समय में सभी मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई और अपने मनोरंजन के लिए मोबाइल फोंस का इस्तेमाल करते हैं
और वर्तमान समय में ऑनलाइन पढ़ाई का प्रसार बहुत ज्यादा हुआ है जिसके कारण पेरेंट्स को यह चिंता भी होती है कि उनके बच्चों के लिए मोबाइल स्क्रीन या कंप्यूटर की स्क्रीन से उनकी आंखों में कोई समस्या ना हो क्योंकि हमें पता है कि स्क्रीन से निकलने वाली ब्लू रे (नीली किरण) हमारे आंखों के स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होती है
इसलिए हमें अपने मोबाइल कंप्यूटर का इस्तेमाल करने का समय निर्धारित कर लेना चाहिए (स्क्रीन टाइम)

स्क्रीन टाइम क्या है :-

एक पूरे दिन (24 घंटे) में कोई भी व्यक्ति स्क्रीन यानी कंप्यूटर लैपटॉप टीवी मोबाइल आदि का कितनी देर इस्तेमाल करते हैं या उसे कितनी देर देखते हैं वह उसका स्क्रीन टाइम होता है

सामान्य तौर पर कितना होना चाहिए स्क्रीन टाइम :-

जो व्यक्ति लंबे समय तक मोबाइल कंप्यूटर के सामने बैठकर काम करता है ऐसे में उनकी आंखों की मांसपेशियां थक जाती है और उनकी आंखें कमजोर होने लगती है इसलिए ऐसे व्यक्तियों को हर आधे घंटे या 20 से 25 मिनट बाद में अपनी आंखों को आराम देना चाहिए उन्हें अपनी आंखों को स्क्रीन से हटाकर थोड़ी देर दूर तक देखना चाहिए जिससे उनकी आंखों की मांसपेशियों को आराम मिलता है और अपने आंखों को रिलैक्स करने के लिए उन्हें ठंडे पानी से साफ करें और कुछ समय के लिए अपनी आंखों को बंद करके रिलैक्स देना चाहिए जिससे हमारी आंखों की मांसपेशियों को आराम मिलता है

बच्चों में जिनकी आयु 5 साल से कम है उनकी आंखों का विकास होता रहता है इसलिए उन्हें बहुत कमियां स्क्रीन नहीं दिखानी चाहिए क्योंकि उनकी आंखें बहुत नाजुक होती है

बच्चों को कितनी देर दिखाएं स्क्रीन :-

  1. वह बच्चे जो डेढ़ से 2 साल तक के हैं उन्हें स्क्रीन से दूर रखना चाहिए क्योंकि इस समय उनकी आंखों का विकास हो रहा होता है और स्क्रीन मैं देखने से उनकी आंखों पर बुरा असर पड़ सकता है इसलिए उनको स्क्रीन से दूर रखें।
  2. ऐसे बच्चे जिनकी आयु 3 साल से 5 साल तक की है उन्हें आधा घंटा मोबाइल या कंप्यूटर स्क्रीन दिखा सकते हैं लेकिन बीच में एक ब्रेक जरूर दें।
  3. 5 साल से बड़े बच्चों के लिए 2 से 3 घंटा कर सकते है लेकिन हर आधे घंटे में उनको 5 मिनट का ब्रेक जरूर दें जिससे उनकी आंखों को आराम मिल सके

बालों के लिए विटामिन ई के फायदे(Benifits of vitamin E for hairs)

लंबे समय तक मोबाइल चलाने से आंखों नुकसान :-

लंबे समय तक कंप्यूटर मोबाइल लैपटॉप आदि चलाने से हमारी आंखों को नुकसान पहुंचता है क्योंकि यह स्क्रीन हमारे आंखों के बहुत पास होती है जिससे हमारी आंखों का फोकस उन पर टिका होता है ऐसे लगातार रहने से हमारी आंखों की मांसपेशियां थकने लगती है और ऐसा लंबे समय तक होने से वह कमजोर पड़ने लगती है जिसके कारण हमें देखने में धुंधलापन होने लगता है और स्क्रीन से बहुत प्रकार की किरणें निकलती है जो हमारे लिए बहुत हानिकारक होती है और स्क्रीन से निकलने वाली ब्लू रे- नीली किरणें हमारे आंखों के लिए बहुत ही ज्यादा नुकसानदायक होती है

स्क्रीन से होने वाली आंखों की समस्या से कैसे बचें :-

Screen से आंखों को बचाने के लिए सबसे पहले आपको अपना स्क्रीन टाइम निश्चित करना होगा और ज्यादा देर स्क्रीन पर काम ना करें अगर आप ज्यादा समय तक स्क्रीन पर काम करते हैं तो बीच में ब्रेक जरूर लेवे और मोबाइल कंप्यूटर आदि का इस्तेमाल करते समय एंटी ग्लेयर चश्मा या एंटी ब्लू रे कट चश्मा पहनने जिससे कंप्यूटर से आने वाली नीली किरने आपकी आंखों तक नहीं पहुंचेगी और इससे आपकी आंखें सुरक्षित रहेंगी

अपने और अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए स्वस्थ खाना है इंडोर के साथ आउटडोर एक्टिविटी या फिजिकल एक्टिविटी से जुड़े रहे जिससे आपका शरीर फिट रहेगा आंखों की सुरक्षा के लिए पौष्टिक भोजन करें और अगर यह पोस्ट आपको अच्छी लगे तो आप इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करें और हमारी दूसरी Site – basicofscience.com पर हम इंग्लिश में हेल्थ रिलेटेड पोस्ट डालते रहते हैं वहां भी हमें फॉलो करें और हमारी Site- basicofscience.in  पर आने के लिए आपका धन्यवाद

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *